मैथ्स (Maths) में इंटेलिजेंट कैसे बने

अधिकतर अभ्यर्थियों को मैथ्स एक बोरिंग विषय लगता है क्योंकि, उन्हें मैथ्स कम समझ में आती है,  जिसके कारण वो मैथ्स में काफी कमजोर होते है लेकिन, कुछ अभ्यर्थी जो  मैथ्स में काफी इंटेलीजेन्ट होते है और उनका मैथ्स एक पसंदीदा विषय होता है | ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वो मैथ्स  पढ़ने के शौकीन होते  है और वो मैथ्स में अच्छे नंबर भी प्राप्त कर लेते है, जिससे उनका पढ़ाई के क्षेत्र में एक अच्छा पर्सेंटेज बनकर तैयार होता है | जो अभ्यर्थी मैथ्स के साथ-साथ अन्य विषयो में भी अच्छे अंक प्राप्त कर लेते है, तो उन अभ्यर्थियों को इंटेलीजेंट अभ्यर्थी कहा जाता है | यदि आप भी मैथ्स में इंटेलीजेंट बनना चाहते है,  तो यहाँ पर आपको मैथ्स (Maths) में इंटेलिजेंट कैसे बने, टॉप कैसे करे, इंटरेस्ट कैसे बढ़ाएं | इसकी सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की जा रही है |

ये भी पढ़े:  संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) क्या है?

मैथ में इंटरेस्ट कैसे बढ़ाएं 

मैथ्स में इंटेलीजेंट बनने के लिए अभ्यर्थियों को कड़ी से  कड़ी मेहनत करनी होती है और साथ ही में अभ्यर्थी मैथ्स के सवाल हल करते समय पहले अच्छे से उन्हें समझ लें, फिर बाद में हल करें, मैथ्स कोई बोरिंग विषय नहीं है | इस विषय को समझने के लिए अभ्यर्थियों को इसमें विशेष ध्यान देना होता है और उनके सवालों को अच्छे से समझना होता है | यदि आप किसी सवाल को अच्छे से समझेंगे, तो वह आपको जरूर समझ में आएगा | इसलिए आप मैथ पढ़ते समय अपने मन को एकत्रित रखें, जिससे आपको वह सवाल बहुत जल्द समझ में आ जाएगा |

ये भी पढ़े: रेलवे में स्टेशन मास्टर कैसे बने?

ये भी पढ़े: एसएससी CHSL परीक्षा तैयारी कैसे करे?

मैथ्स में टॉप कैसे करें 

Formula Notebook अलग से बनाएं

मैथ्स पढ़ने और समझने के लिए आपके लिए सबसे जरूरी होते है उसके फॉर्मूले | यदि आपको मैथ्स के सारे फॉर्मूले के विषय में अच्छे ज्ञान होगा, तो आप किसी भी सवाल को बहुत ही आसानी से हल  कर सकते है क्योंकि, सवाल हल करने के लिए उसमें फॉर्मूलों का प्रयोग किया जाता है जिसके आधार सवाल को हल किया जाता है | इसलिए यदि आपको मैथ्स में टॉप करना है, तो आप इसके लिए फॉर्मूलों की अलग से नोटबुक अपने पास बनाकर  रखें और उसे दिन में एक या दो बार जरूर पढ़े | ऐसा करने से आपका दिमाग भी काफी तेज होगा |

समय पर पढ़ाई करें 

यदि आपको मैथ्स में अच्छे नंबरों से सफलता प्राप्त करनी है, तो इसके लिए आपको एक निश्चित समय में पढ़ाई करनी चाहिए क्योंकि, यदि आप पढ़ाई का एक निश्चित समय नहीं बनाकर रखेंगे, तो आप मैथ्स में  विशेष ध्यान नहीं दे पाएंगे | इसलिए मैथ्स पढ़ने की अलग से समय निश्चित कर लें कि, आप मैथ्स के सवाल हल करने के लिए कितना समय निकाल सकते है |

ये भी पढ़े:  बीएड की तैयारी कैसे करे?

मैथ्स का अभ्यास करते रहें 

मैथ्स में इंटेलीजेंट बनने के लिए आपको मैथ्स का अभ्यास लगातार  करते रहना चाहिए क्योंकि   ‘अभ्यास गणित की मूल इकाई होती है।’ इसलिए जब तक आप मैथ्स का लगातार अभ्यास नहीं करेंगे, तब तक आप मैथ्स में अच्छे टॉपर नहीं बन सकते है क्योंकि, मैथ्स ऐसा विषय होता है कि, जितना आप उसका अभ्यास करेंगे उतना  ही आपका दिमाग तेज होता जाएगा और आपकी मैथ्स भी काफी मजबूत होती चली जाएगी |

ये भी पढ़े: ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?

डिस्कस और ग्रुप डिस्कशन करें

यदि आपको मैथ्स में टॉप बनना है, तो इसके लिए आप किसी दूसरे से भी डिस्कस कर सकते है  यानि कि, यदि आपको  किसी  प्रश्न को हल करने में  कोई समस्या आ रही है, तो इसका हल निकालने के लिए आप सबसे पहले स्वयं ही उस प्रश्न से संबंधित प्रश्नों को ढूढ़ने की कोशिश करें और उनको अपने आप हल कीजिए, यदि आप फिर भी उस प्रश्न को हल नहीं कर पाते है तो, इसके लिए आप दूसरे से भी डिस्कस कर सकते है, या ग्रुप डिस्कशन भी अच्छा आप्शन हो सकता है |

पुराने प्रश्न-पत्रों को सॉल्व करके देखें 

मैथ्स में अच्छे नंबर प्राप्त करने के लिए और परीक्षा  का पैटर्न जानने के लिए  आपको अपने पुराने वर्षों के प्रश्नों-पत्रों को सॉल्व करके भी  देख लेना चाहिए क्योंकि, कभी – कभी पुराने प्रश्न पत्रों के भी कुछ सवाल नए प्रश्न पत्रों में दे दिए जाते है | इलसिए इसे हल करने से भी आप मैथ्स में अच्छे नंबर प्राप्त कर सकते है |

ये भी पढ़े:  संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) क्या है?

यहाँ पर आपको मैथ्स में इंटेलीजेंट बनने के विषय में सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आपको इससे  सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप  www.usidcl.com पर विजिट कर सकते है | इसके साथ ही यदि आप दी गयी जानकारी के विषय में अपने विचार या सुझाव अथवा प्रश्न पूछना चाहते है, तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से संपर्क कर सकते है | हम आपके प्रश्नो और सुझावों का इन्तजार कर रहें है |

ये भी पढ़े: सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया क्या होता है?

ये भी पढ़े:  एलआईसी एएओ (LIC AAO) कैसे बने?

ये भी पढ़े: निवास प्रमाण पत्र (Domicile Certificate)