ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?

भारत सरकार और राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्र के विकास के लिए प्रतिबद्ध है, इसके लिए ग्रामीण विकास मंत्रालय का गठन किया गया है, ग्रामीण क्षेत्र में विकास के लिए यह मंत्रालय उत्तरदायी है, इस मंत्रालय के अंतर्गत ही ग्राम विकास अधिकारी का पद आता है, जोकि एक अराजपत्रित पद है | इस पद पर रहते हुए व्यक्ति को ग्राम प्रधान के साथ मिलकर गाँव के विकास से सम्बन्धित कार्य करने होते है |

ये भी पढ़े: लेखपाल (LEKHPAL) कैसे बने 

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने (HOW TO BECOME VDO)?

ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) के द्वारा आयोजित की जाती है, इस परीक्षा के तीन चरण है-

  • लिखित परीक्षा (WRITTEN EXAM)
  • साक्षात्कार (INTERVIEW)
  • शारीरिक योग्यता (PHYSICAL FITNESS)

इन तीनों चरणों में सफल होने वाले अभ्यर्थी को ग्राम विकास के पद पर चयनित किया जाता है |

योग्यता (QUALIFICATION)

ग्राम विकास अधिकारी के लिए अभ्यर्थी को किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से इंटरमीडियट की परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है | इसके साथ ही नियलेट द्वारा मान्यता प्राप्त सीसीसी उत्तीर्ण होना अनिवार्य है |

आयु सीमा (AGE LIMIT)

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए अभ्यर्थी की आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में होनी चाहिए | आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थी को नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है |

ये भी पढ़े: बैंक पीओ (Bank PO) कैसे बने? 

वेतन (SALARY)

एक ग्राम विकास अधिकारी का वेतन 5200-20200 रुपये होता है, इसका ग्रेड पे 2000 रुपये है |

कार्य (Work)

ग्राम का जनप्रतिनिधि ग्राम प्रधान होता है और प्रशासन का प्रतिनिधि ग्राम विकास अधिकारी होता है, यह दोनों मिल कर ग्राम के विकास की योजना तैयार करते है, जिसमें की आम ग्रामीणों की राय भी शामिल होती है | ग्राम प्रधान गाँव के विकास के लिए गाँव की आवश्यकताओं को ग्राम विकास अधिकारी के समक्ष रखता है, इन आवश्यकताओं की वास्तविक रूप से परीक्षण और उस पर अपने विचारों को सम्मिलित करते हुए प्रशासनिक सुविधा और वित्तीय लाभ ग्राम विकास अधिकारी के द्वारा प्रदान किया जाता है |

लिखित परीक्षा (Written Exam)

ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा तीन चरणों में होती है | प्रारंभिक चरण में लिखित परीक्षा होती है, इसकी तैयारी करने के लिए आपको इसके पैटर्न को सही ढंग से समझना होगा | इसके बाद आपको अपनी तैयारी शुरू करनी होगी |

परीक्षा पैटर्न (Exam Pattern)

विषय प्रश्नों की संख्या अंक
हिंदी लेखन क्षमता 50 100
सामान्य बुद्धि परीक्षण 50 100
सामान्य जागरूकता 50 100

नोट: प्रत्येक गलत उत्तर के लिए नकारात्मक अंकन किया जाता है |

साक्षात्कार (INTERVIEW)

लिखित परीक्षा में सफल होने के बाद आपको साक्षात्कार के लिए बुलाया जायेगा | इसमें भाग लेने से पूर्व आपको मानसिक रूप से पूरी तरह से तैयार होना होगा | आप इंटरनेट के माध्यम से पूर्व में आयोजित होने वाले प्रश्नों के विषय में जानकारी प्राप्त कर सकते है | कई कोचिंग संस्थान डेमों साक्षात्कार का आयोजन करते है, जिसके माध्यम से आप साक्षात्कार की तैयारी अच्छी कर सकते है |

ये भी पढ़े: सरकारी बैंक में क्लर्क कैसे बने? 

शारीरिक योग्यता (PHYSICAL FITNESS)

शारीरिक योग्यता में आपको अपने शरीर को स्वस्थ रखना होगा, इसके लिए आपको सुबह जल्दी उठ कर व्यायाम करना चाहिए इसके साथ ही यदि आप सुबह के समय दौड़ लगाते है, तो आपका शरीर पूरी तरह से स्वस्थ बना रहेगा | आप इस प्रकार से शारीरिक योग्यता की परीक्षा में सफल हो सकते है | तीनों चरण उत्तीर्ण करने के बाद ग्राम विकास अधिकारी के पद पर चयनित हो सकते है |

तैयारी कैसे करे (PREPRATION)?

आप इस प्रकार से तैयारी कर सकते है-

विषय के बेसिक को समझना

आपको हिंदी, सामान्य बुद्धि परीक्षण, सामान्य जागरूकता इन तीनों विषयों के बेसिक को समझना होगा | इसके बाद आपको इससे सम्बंधित प्रश्नों का अध्ययन करना होगा |

समय सारणी

अच्छी तैयारी करने के लिए आपको एक समय सारणी बनानी होगी | इस समय सारणी में आपको सभी विषयों को बराबर समय देना होगा | आप जिस विषय में अधिक कमजोर है, उसमे आप अधिक समय दे सकते है |

पिछले प्रश्न पत्रों को हल करना

तैयारी करने में आपको पूर्व में आयोजित होने परीक्षाओं के प्रश्न पत्र को हल करना होगा | इसके हल करने से आपको परीक्षा के स्तर को समझने में आसानी होगी |

इंटरनेट का प्रयोग

तैयारी करने में आपको इंटरनेट का प्रयोग करना चाहिए जिससे आपको न समझ में आने वाले टॉपिकों को समझने में आसानी होगी | आप यूट्यूब का यूज कर सकते है, इससे आप ऑनलाइन कोचिंग का लाभ भी उठा सकते है |

तैयारी का स्तर चेक करे

आपको समय- समय पर अपनी तैयारी का स्तर चेक करते रहना चाहिए, इसके लिए आप मॉडल पेपर को हल कर सकते है | कई वेबसाइट पर मॉक टेस्ट का आयोजन किया जाता है, आप इसमें भाग लेकर अपनी तैयारी की जाँच कर सकते है | इस प्रकार से आप अच्छी तैयारी कर सकते है |

ये भी पढ़े: एलआईसी एएओ (LIC AAO) कैसे बने?