GDP, GNP, NNP का क्या मतलब है

किसी भी देश के विकास का स्तर का मापन उसकी अर्थव्यवस्था के आधार पर किया जाता है, और अर्थव्यवस्था के आधार पर ही यह तय किया जाता है, कि देश की अर्थव्यवस्था बढ़ रही है, या घट रही है|  हालाँकि इसके लिए अर्थ- शास्त्रियों ने कई प्रकार के नियम बनाए  है, जिसके आधार पर देश की आर्थिक स्थिति का पता लगाया जा सकता है | जैसे कि जीडीपी का इस्तेमाल देश की आर्थिक स्थित को समझने के लिए किया जाता हैं | जीएनपी के अंतर्गत घरेलू व्यवसायों द्वारा निर्मित सभी उत्पादों के मूल्य की गणना की जाती है, और एनएनपी को किसी देश के नागरिकों द्वारा उत्पादित माल और सेवाओं की गणना की जाती है| आईये जानते है, कि जीडीपी, जीएनपी और एनएनपी क्या है, और इनमें क्या अंतर है?

ये भी पढ़े: 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का अर्थ

जीडीपी का क्या मतलब है (Meaning Of GDP)

देश की आर्थिक स्थित को समझने के लिए जीडीपी का इस्तेमाल में किया जाता है | जीडीपी का इस्तेमाल सबसे पहले अमेरिका के एक अर्थशास्त्री साइमन ने 1935 -1944 के बीच किया था | जीडीपी को हिंदी भाषा में सकल घरेलू उत्पाद कहा जाता है| इसको इस प्रकार से समझा जा सकता है, किसी भी देश में उत्पादित वस्तु और सेवा का बाजार में कितना मूल्य है|  उस वस्तु का मूल्य अधिक होने पर देश के अंदर विदेशी मुद्रा अधिक आएगी, जिससे देश का विकास होगा| यदि देश में उत्पादित होनें वाली वस्तु और सेवा का मूल्य कम है, तो उस देश की आर्थिक स्थिति सही नहीं है| भारत में इसका इस्तेमाल उत्पादन बढ़ने या घटने के औसत के आधार पर किया जाता है |

ये भी पढ़े: भारत के राज्य और राजधानी की सूची

जीडीपी का फुल फॉर्म (Full form of GDP)

जीडीपी का  फुल  फॉर्म “Gross Domestic Product” होता है,  जिसे हिंदी शब्दों में  ‘सकल घरेलू उत्पाद’ कहा जाता है |

GNP का क्या मतलब है (Meaning Of GNP)

किसी भी देश में एक निश्चित समय अथवा एक वित्त वर्ष में देश के नागरिकों द्वारा उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं के अंतिम मौद्रिक मूल्य को सकल राष्ट्रीय उत्पाद या जीएनपी कहते है| जीएनपी के अंतर्गत यदि कोई भारतीय व्यक्ति किसी अन्य देश में रह कर व्यापार या जॉब करता है, जिसके बाद वह अपने लाभ को भारत में भेजता है, तो इस लाभ को जीएनपी में जोड़ा जाता है | इसके विपरीत यदि विदेशी कंपनी या कोई विदेशी व्यक्ति जो भारत में व्यापार या जॉब करके अपने लाभ को भारत से बाहर भेजता है, तो इस लाभ को जीएनपी (GNP) में घटाया जाता है |

ये भी पढ़े: आय प्रमाण पत्र (INCOME CERTIFICATE)

जीएनपी का फुल फॉर्म (GNP Full Form)

जीएनपी GNP का फुल फॉर्म “Gross National Product” होता है, इसे हिंदी “सकल राष्ट्रीय उत्पाद” के नाम से जाना जाता है |

NNP का मतलब (Meaning Of NNP)

जीएनपी से लागत के मूल्य में होने वाले मूल्यह्रास को हटाने के बाद जो शेष बचता है, उसे “शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद” या एनएनपी कहा जाता है |

जैसे कि कोई भारतीय कंपनी विदेश में अपना व्यापार करती है, उसमें एक वित्तीय वर्ष में उसकी लागत के मूल्य में जितनी कमी आती है, उस कमी को जीएनपी (GNP) से घटा दिया जाता है, जैसे कि किसी उत्पादन के लिए कोई भी मशीन या यंत्र ख़रीदा जाता है, एक वर्ष में उसकी कीमत में जितनी कमी आएगी वह एनएनपी (NNP) में घटाया जाता है |

उदहारण के रूप में यदि किसी भी यंत्र या मशीन की कीमत 5000 रूपये है, एक वर्ष के बाद इसकी कीमत 4000 रूपये ही रह जाती है, तो जीएनपी में 1000 रुपये की कटौती की जाएगी | इसमें यदि किसी प्रकार से लाभ प्राप्त होगा, उसे एनएनपी (NNP) कहा जायेगा |

ये भी पढ़े: सूचना का अधिकार अधिनियम (RTI)

NNP = Market Value of Finished Goods + Market Value of Finished Services – Depreciation

अथवा

NNP = Gross National Product – Depreciation

NNP का फुल फॉर्म (Full Form Of NNP)

एनएनपी का फुल फॉर्म “Net National Product” होता है, जिसे हिंदी शब्दों में  “शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद”के नाम से जाना जाता है|

ये भी पढ़े: सरकारी बैंक और प्राइवेट बैंक की सूची

 जीडीपी, जीएनपी, एनएनपी में अंतर (Difference Between GDP, GNP, NNP )

  • जीडीपी और जीएनपी दोनों अर्थव्यवस्था के राष्ट्रीय उत्पादन और आय को दर्शाते है।
  • जीडीपी सभी घरेलू उत्पादनों का मापन करता है, चाहे इसकी उत्पादन ईकाइयों की राष्ट्रीयता कोई भी हो तथा जीएनपी (सकल राष्ट्रीय उत्पाद) एक क्षेत्र की ‘राष्ट्रीयता’ के द्वारा उत्पन्न आउटपुट के मान का मापन करता है।
  • जीएनपी में देश या विदेश से प्राप्त होनें वाली आय को जोड़ा जाता है, जबकि एनएनपी में लगने वाली लागत में होने वाली कमी को घटाया जाता है |
  • जीएनपी में आयात और निर्यात के स्थान पर विदेशी आय शामिल होती है, साधारण तौर पर यह कह सकते है कि GDP की तुलना में GNP में शुद्ध विदेशी निवेश आय शामिल होती है।
  • जीडीपी घरेलू उत्पादन के स्तर को प्रदर्शित करता है, जबकि जीएनपी किसी भी व्यक्ति या किसी देश के निगम के उत्पादन के स्तर को मापता है।

ये भी पढ़े: भारतीय संविधान क्या है?

ये भी पढ़े: भारत के बंदरगाह की सूची