फिल्म प्रोड्यूसर (Film Producer) कैसे बने

फ़िल्म का निर्माण करने वाले को फिल्म प्रोड्यूसर कहा जाता है। फ़िल्म में प्रोड्यूसर का अहम रोल होता है, क्योंकि एक प्रोड्यूसर ही होता है, जो अपनी फिल्म से संबंधित सारे अहम फैसले करता है, लेकिन एक फ़िल्म को तैयार करने के लिए  करोड़ों रूपये की रकम प्रोड्यूसर अपनी जेब से नहीं भरता है, इसके लिए वह अलग अलग चरणों में पैसा जुटाने का काम करता है | इसके लिए प्रोड्यूसर को शिक्षित होना अनिवार्य होता है | इसके साथ ही एक प्रोड्यूसर ही तय करता है कि, वो  कॉमेडी, ड्रामा, सस्पेंस, थ्रिलर, एक्शन या रोमांटिक कैसी फ़िल्म बनाना चाहता है, क्योंकि प्रोड्यूसर ही फ़िल्म के लिए एक अच्छी कहानी तैयार करता है जो फ़िल्म को आगे तक ले जाए | जैसे- प्रोड्यूसर किसी  उपन्यास कहानी फ़िल्म में शामिल करने के लिए कह सकता है या फिर उस फ़िल्म की कहानी किसी लेखक से भी लिखवा सकता है| यदि आप भी फ़िल्म प्रोड्यूसर बनना चाहते है, तो यहाँ पर आपको फिल्म प्रोडूसर (Film Producer) कैसे बने,  योग्यता, कैसे सीखे, शॉर्ट मूवी कैसे बनायें | इसकी विस्तृत जानकारी प्रदान की जा रही है |

ये भी पढ़े: बैंक कैशियर (BANK CASHIER) कैसे बने

फ़िल्म प्रोड्यूसर कैसे बने 

एक फ़िल्म प्रोड्यूसर डायरेक्टर, डायलॉग राइटर, म्यूज़िक डायरेक्टर, सिनेमेटोग्राफर, एडिटर और बाकी टेकनीशियन्स की टीम चुनने का काम करता है  | फ़िल्म प्रोड्यूसर बनने के लिए आपको काफी मेहनत करनी पडेगी,  क्योंकि कोई भी व्यक्ति आसानी के साथ एक कामयाब प्रोड्यूसर नहीं बन सकता है इसके लिए आपको फ़िल्म के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए कि, आपको यह फ़िल्म कैसी तैयार करनी हैं, इसमें कौन सी कहानी शामिल की जाए कि, यह फ़िल्म लोगों को अत्याधिक पसंद आये | इस तरह की सारी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इसकी क्लास भी कर सकते है, क्योंकि एक प्रोड्यूसर के लिए मैनेजमेंट बहुत ही आवश्यक है |

फ़िल्म प्रोड्यूसर के लिए योग्यता 

फिल्म  प्रोड्यूसर बनने के लिए उम्मीदवार को  पोस्ट ग्रेजुएट होना अनिवार्य होता हैं। इसके साथ ही उम्मीदवार बैचलर स्तर पर भी कई संस्थान से कोर्स कर सकते हैं। यदि आप बैचलर  कोर्स में  प्रवेश लेना चाहते है तो 12th करने के बाद  इसमें प्रवेश  ले सकते है। वहीं, यदि आपको इसके लिए पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स करना है,  तो आपको ग्रेजुएट की डिग्री में न्यूनतम 40 प्रतिशत अंक  प्राप्त करने अनिवार्य है | इसके अलावा प्रोड्यूसर बनने के लिए उम्मीदवार को साउंड एडिटिंग और कुछ अन्य तकनीकी कोर्स करने होते है, जिसके लिए साइंस बैकग्राउंड से ग्रेजुएट होना अनिवार्य है |

कैसे सीखे 

एक प्रोड्यूसर बनने के लिए  आप  दूसरों प्रोड्यूसर से भी सहायता ले सकते है, उनकी सहायता से भी आप एक अच्छे प्रोड्यूसर बन सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको किसी बड़े प्रोडूसर के साथ रहकर  काम करना होगा या आप उसके  असिस्टेंट के तौर पर  भी काम करके  प्रोड्यूसर के बारे में अच्छे से सीख सकते हैं | इसके अलावा प्रोड्यूसर बनने के लिए आपको  फिल्म इंडस्ट्री में  कम से कम 5 साल का अनुभव होना आवश्यक है | इसके बाद ही आप किसी फिल्म को प्रोड्यूस कर सकते है |

ये भी पढ़े: प्रॉपर्टी डीलर (PROPERTY DEALER) कैसे बने

ये भी पढ़े: आर्थिक मंदी (ECONOMIC RECESSION) क्या है

फ़िल्म प्रोड्यूसर की कार्य

  • एक फ़िल्म प्रोड्यूसर ही होता है, जो फिल्म की शुरुआत में कलाकारों और तकनीशियनों को कुल मेहनताने का हिस्सा साइनिंग अमाउंट (अनुबंध की रकम) के तौर पर प्रदान करता है, और शेष सारा पैसा फिल्म निर्माण के अलग अलग चरणों में किश्तों में दिया जाता है |
  • प्रोड्यूसर लाखों रूपये एकत्रित करके शूटिंग के लिए स्टूडियो बुक कराता है, और साथ ही रील खरीदता है |
  • सारे प्रबंध हो जाने के बाद शूटिंग की शुरुआत कर कर देता है |
  • फ़िल्म में कुछ रील बनकर तैयार जाने के बाद  प्रोड्यूसर फिल्म को दिखाने के लिए वितरक या डिस्ट्रीब्यूटर्स को आमंत्रित करता है ।
  • यदि डिस्ट्रीब्यूटर को फ़िल्म पसंद आ जाती है, तो वह उसी समय फिल्म प्रदर्शन के अधिकार का सौदा पक्का  करते हुए सौदे  के लिए कुछ राशि जमा कर देते  हैं।  इसके बाद जैसे – जैसे फिल्म तैयार होती चली जाती है, तो इसके बाद  डिस्ट्रीब्यूटर सौदे की शेष राशि भी पेय कर देते हैं और फिर इन्ही पैसो से शूटिंग चलती रहती है |
  • इसके बाद में प्रोड्यूसर शेष  क्षेत्रों के डिस्ट्रीब्यूटर्स को बुलाकर फिल्म दिखाता है। यदि उन्हें भी फिल्म पसंद आ जाती है वहां से भी रकम मिलनी शुरू हो जाती है |
  • प्रोड्यूसर अपनी पूरी फ़िल्म को डिस्ट्रीब्यूटर या फाइनेंसर से मिले पैसों से तैयार करता है।  इसके बाद जो फिल्म के बनने में खर्च आता है  और  जो उसे बेचने से पैसे प्राप्त होते है तो उनके बीच के अंतर से ही  प्रोड्यूसर अपनी कमाई कर लेता है |
  • इस तरह एक प्रोड्यूसर कुछ लाख रुपये लगाकर फ़िल्म शूटिंग की शुरुआत करता है और  फिर  करोड़ों की फिल्म बना लेता है।

शॉर्ट मूवी कैसे बनायें

एक प्रोड्यूसर जब भी फ़िल्म की दुनिया में कदम रखता है और किसी फ़िल्म की शुरुआत करता है तो वह सबसे पहले शॉर्ट मूवी से ही शुरुआत करके एक बड़ा प्रोड्यूसर बन जाता है | शॉर्ट मूवी भी एक फिल्म की जैसी  ही होती है, लेकिन यह  बड़ी फिल्मो के आकार में छोटी होती है | ये शॉर्ट मूवीज 10-20 मिनट की ही होती है, लेकिन आप शॉर्ट  मूवीज  कॉमेडियन या मोटिवेशनल कैसी भी बना सकते है |

ये भी पढ़े: आईएएस (IAS) टॉपर कैसे बनें

ये भी पढ़े: सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया क्या होता है?

शॉर्ट मूवीज बनाने के किये कुछ महत्वपूर्ण बातें 

कोई टॉपिक चुन लें 

शॉर्ट मूवीज बनाने के लिए आप सबसे पहले  तय कर लें कि, आपको अपनी शॉर्ट मूवीज को किस टॉपिक पर बनानी है , जैसे – कॉमेडी या मोटिवेशनल  आदि | इस तरह की फिल्मो का चुनाव आप अच्छे से कर लें क्योंकि, आप बिना तय करें कोई भी फ़िल्म अच्छे से नहीं तैयार कर पाएंगे | इसलिए आपके लिए फ़िल्म को लेकर एक टॉपिक का चुनाव करना आवश्यक होता है |

कहानी सोचकर रखें 

टॉपिक चुनने के बाद आपको शॉर्ट मूवी के लिए एक कोई कहानी लिखनी होती है और वह कहानी ऐसी होनी चाहिए, जो किसी भी कहानी  से मैच न खाती है, मतलब आप जो भी कहानी लिखे वह बिलकुल अलग होनी चाहिए |  यदि आप इस तरह की कहानी खुद से नहीं लिख पाते है, तो आप paid writer को भी रख सकते हैं, जो  आपको   टॉपिक से जुड़ी हुयी कहानी लिखकर देगा |

ये भी पढ़े: इंश्योरेंस एजेंट (INSURANCE AGENT) कैसे बनें

स्क्रिप्ट लिखना 

स्क्रिप्ट वह होता है, जिसमें पूरी शॉर्ट मूवी के बारे में  लिखा जाता है कि, शूटिंग करते समय  समय किन – किन वस्तुओं की आवश्यकता होती है ,शॉर्ट मूवी में किसको क्या रोल देना है | ये  सारी  बाते आप एक स्क्रिप्ट में लिखकर रख लें | ताकि आपको शूटिंग करते समय किसी तरह की समस्या न हो |

कैरेक्टर और कास्टिंग  

एक शॉर्ट मूवी  बनाने के  आपको कैरेक्टर और कास्टिंग  में  एक्टर, एक्ट्रेस एवं साइडरोल के लिए कैरेक्टर की जरूरत होती  हैं | इसके लिए बजट कम  होने पर आप एक्टर, एक्ट्रेस के तौर पर एक्टिंग सीखने वालों को रख सकते है | इसके लिए आपको पैसे नहीं देने पड़ेंगे |

लोकेशन तय करना  

आपको शॉर्ट मूवी बनाने के लिए अपनी शॉर्ट मूवी में क्या दिखाना चाहते हैं ? आपकी शॉर्ट मूवी किससे रिलेटेड है ? इस तरह की लोकेशन तय करनी होती है, क्योंकि  उस लोकेशन के आधार  पर ही आपकी फ़िल्म तैयार की जाएगी | फ़िल्म तैयार हो जाने के बाद आप उसे  शूट कर सकते या करवा सकते है |

ये भी पढ़े: फोटोग्राफर (PHOTOGRAPHER) कैसे बने

यहाँ पर हमने आपको फ़िल्म प्रोड्यूसर बनने के विषय में सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इससे सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है | अन्य जानकारी के लिए हमारे www.usidcl.com पोर्टल को विजिट करते रहे |

ये भी पढ़े: मैथ्स (MATHS) में इंटेलिजेंट कैसे बने

ये भी पढ़े: बैंक मैनेजर (BANK MANAGER) कैसे बने

ये भी पढ़े: सीआईडी (CID) ऑफिसर कैसे बने